Menu

 

राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी हुई लॉन्च

राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी हुई लॉन्च

राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरीनई दिल्ली : केन्‍द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडेकर ने राष्‍ट्रीय पठन-पाठन दिवस के अवसर पर भारतीय राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी लॉन्च की। सूचना व संचार तकनीक (एनएमईआरसीटी) के माध्‍यम से राष्‍ट्रीय शिक्षा मिशन के तत्‍वावधान में भारतीय राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी (एनडीएलआई), मानव संसाधन विकास मंत्रालय की एक परियोजना है।

एनडीएल का लक्ष्‍य देश के सभी नागरिकों को डिजिटल शिक्षण संसाधन उपलब्‍ध कराना है तथा ज्ञान प्राप्ति के लिए उन्‍हें सशक्‍त, प्रेरित और प्रोत्‍साहित करना है। आईआईटी खड़गपुर ने भारतीय राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी को विकसित किया है।

एनडीएल भारत तथा विदेशों के शिक्षा संस्‍थानों से अध्‍ययन सामग्री एकत्र करने का एक प्‍लेटफॉर्म है। यह एक डिजिटल पुस्‍तकालय है, जिसमें पाठ्य पुस्‍तक, निबंध, वीडियो-आडियो पुस्‍तकें, व्‍याख्‍यान, उपन्‍यास तथा अन्‍य प्रकार की शिक्षण सामग्री शामिल है।

इस अवसर पर अपने संबोधन में जावड़ेकर ने बताया कि कोई भी व्‍यक्ति, किसी भी समय और कहीं से भी राष्‍ट्रीय डिजिटल लाइब्रेरी का उपयोग कर सकता है। यह सेवा नि:शुल्‍क है और ‘पढ़े भारत, बढ़े भारत’ के संदर्भ में सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाती है।

जावड़ेकर ने कहा कि एनडीएलआई में 200 भाषाओं में 160 स्रोतों की 1.7 करोड़ अध्‍ययन सामग्री उपलब्‍ध है। लाइब्रेरी के अंतर्गत 30 लाख उपयोगकर्ताओं का पंजीयन हुआ है और हमारा लक्ष्‍य है कि प्रति वर्ष इस संख्‍या में 10 गुनी वृद्धि हो।

जावड़ेकर ने यह भी बताया कि वेबसाइट के अलावा एनडीएल मोबाइल एप पर भी उपलब्‍ध है। एनडीएलआई मोबाइल एप पूरे देश के पुस्‍तकालयों और यहां तक कि विदेशी पुस्‍तकालयों को डिजिटल सामग्री उपलब्‍ध कराता है। इस एप को 6.70 लाख बार डाउनलोड किया गया है। यह एप आईफोन और एंड्रायड दोनों में उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्‍ध है। उपयोगकर्ता विषय, स्रोत, सामग्री का प्रकार आदि के माध्‍यम से विषय वस्‍तु ढूंढ सकते हैं। अभी यह एप तीन भाषाओं में उपलब्‍ध है-अंग्रेजी, हिंदी और बांग्‍ला।        

कार्यक्रम शुभारंभ के अवसर पर केन्‍द्रीय संस्कृति राज्य मंत्री डॉ. महेश शर्मा ने राष्ट्रीय आभासी पुस्‍तकालय के बारे में भी जानकारी देते हुए बताया कि इसके तहत कला, संगीत, नृत्य, संस्कृति, रंगमंच, विज्ञान और प्रौद्योगिकी से लेकर शिक्षा, पुरातत्व, साहित्य, संग्रहालयों तक सैकड़ों क्षेत्रों को कवर करने वाले संसाधनों के साथ एक विशाल ऑनलाइन लाइब्रेरी स्थापित की गई है।

एनडीएलआई की वेबसाइट के लिए Ndl.gov.in पर विजिट कर सकते हैं।

back to top
loading...
Bookmaker with best odds http://wbetting.co.uk review site.